Join WhatsApp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

अब आपको UPI पेमेंट करने पर देना होगा Charge, भारत सरकार ने लागू किया नया नियम

UPI Payment Charges New Rules : आज की यह खबर उन सभी लोगों के लिए एक बुरी खबर हो सकती है, जो कि UPI की मदद से ऑनलाइन पैसों का लेनदेन करते हैं। भारत में जिस समय से यूपीआई को लॉन्च किया गया है, उस समय से इसकी प्रसिद्धि बढ़ती ही जा रही है. आज के समय में यूपीआई सेवाएं भारत में ही नहीं बल्कि और भी देशों में चल रही है, लेकिन ऐसे में NPCI (नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया) ने UPI Payment करने पर चार्जेज लगाने की बात की है और यह चार्जेज 1 अप्रैल 2023 से सभी यूपीआई यूजर्स के लिए भारत में लागू हो जाएंगे।

हम आपको बता दें कि NPCI द्वारा जारी की गई गाइडलाइंस के मुताबिक अगर आप ₹2000 से अधिक धनराशि को किसी दूसरे व्यक्ति को यूपीआई सुविधाओं के द्वारा भेजते हैं, तो आपको पेमेंट इंटरचेंज फीस देनी होगी. इसके बारे में हम आपको आगे बताने वाले हैं. इसलिए आज के हमारे इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें, ताकि आपको यूपीआई पेमेंट पर लगने वाले चार्जेज के बारे में पूरी जानकारी मिल सके।

UPI Payment Charges 2023

भारत में लगभग हर दूसरा व्यक्ति UPI सेवाओं का इस्तेमाल पैसों का लेनदेन करने के लिए कर रहा है. ऐसे में एनपीसीआई द्वारा जारी की गई खबर उन सभी लोगों के लिए एक बुरी खबर हो सकती है. क्योंकि बहुत समय से हम सभी लोग भारत में यूपीआई सेवाओं का इस्तेमाल कर रहे थे. यूपीआई की इन सेवाओं का इस्तेमाल करने के लिए हमको पहले कोई भी चार्ज नहीं देना होता था. लेकिन अब आने वाले समय में इस पर भी हमको चार्ज देना होगा।

UPI Payment करने पर इतना देना होगा शुल्क

आइए अब उन सभी चीजों के बारे में बात करते हैं जो कि नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया ने अपने सर्कुलर में यूपीआई पेमेंट्स को लेकर बताया है।

Join WhatsApp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now
  • खबरों के मुताबिक अगर आप यूपीआई वॉलेट की मदद से किसी दूसरे व्यक्ति को 2000 रूपये से अधिक की धनराशि भेजते हैं तो आपको पेमेंट इंटरचेंज फीस देनी होगी।
  • एनपीसीआई द्वारा जारी किए गए सर्कुलर के मुताबिक 2000 रूपये से अधिक की धनराशि भेजने पर आपको 1.1% तक की इंटरचेंज फीस देनी होगी।
  • पेमेंट इंटरचेंज फीस केवल उन यूजर्स को देनी होगी, जो कि किसी मर्चेंट या व्यापारी को पेमेंट कर रहा है।
  • नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया के द्वारा सभी क्षेत्रों के लिए अलग-अलग इंटरचेंज फीस को तय किया गया है।
  • अगर आप कृषि व टेलीकॉम क्षेत्र में यूपीआई पेमेंट करते हैं तो एनपीसीआई के मुताबिक इन दोनों क्षेत्रों में यूजर्स को कम इंटरचेंज फीस देनी होगी।
  • अगर आप बैंक अकाउंट से बैंक अकाउंट में यूपीआई के द्वारा पैसों का लेनदेन करते हैं तो आपको इंटरचेंज चार्ज नहीं देना होगा।
  • PPI वॉलेट और बैंक अकाउंट के बीच होने वाले Pear to MerchantPear to Pear ट्रांजैक्शनों पर यूजर्स को कोई भी चार्ज नहीं देना होगा।

जैसा कि हमने आपको पहले बताया एनपीसीआई द्वारा इस नियम (NPCI UPI Payment New Rules) को 1 अप्रैल से भारत में लागू कर दिया जाएगा. इस नियम को लागू करने के बाद एनपीसीआई ( नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया) अपने इस नए नियम की समीक्षा 30 सितंबर 2023 से पहले करेगा।

Leave a Comment

Join WhatsApp!