Wednesday, September 22, 2021
HomeCoronavirusCORONAVIRUS की पूरी कहानी | CORONAVIRUS क्या है | कोरोना वायरस के...

CORONAVIRUS की पूरी कहानी | CORONAVIRUS क्या है | कोरोना वायरस के लक्षण क्या है | कोरोना वायरस से बचने के उपाय | कोरोना वायरस का इलाज

कैसा हो अगर आपसे ये कहा जाये की दुनिया में एक एसी बीमारी आ चुकी है जिसका इलाज हमरी मोर्डन साइंस के पास भी नही है, जी हां कुछ एसी ही खबरे हमें पिछले कुछ हप्तो से दुनिया के हर कोने में सुनने को मिल रही है, क्युकी एक ऐसा वायरस फ़ैल चूका है जो एक स्वस्थ इन्सान की भी जान ले सकता है, और इस भयानक वायरस का नाम है कोरोना वायरस |
Corona virus पिछले कुछ वक्त पहले ही आया है ये वायरस चाइना से निकला है, और अब और भी देशो में फ़ैल रहा है ,पर क्या ये वायरस इंडिया में आया है और आखिर ये वायरस कैसे फ़ैल रहा है ,इससे कैसे बचा जाये पूरी जानकारी के लिए POST को आखिर तक जरुर पढ़े |

CORONAVIRUS क्या है

दोस्तों कोरोना अभी तक लोगो ने ये नाम  बियर के एक ब्रांड ,सोफ्टवेअर  या सूरज के प्लाज्मा के तोर पर सुना था | लेकिन अब कोरोना एक वायरस के रूप में चर्चा में है | इंसानों में पहुचने को लेकर अभी पुक्ता तोर पर कुछ नही कहा जा सकता, लेकिन इसे लेकर इंटरनेशनल मीडिया में दावा किया जा रहा है, की2019 के आखिरी महीनो में चीन के वुहान शहर के नोनवेग मार्केट से कोरोना वायरस पैदा हुआ है |

रिसर्च से पता चला की यहाँ बेचे गये जंगली जानवरों के शरीर में यह वायरस था , जो नॉनवेज खाने वालों तक पहुच गया | वही शुरूआती रिसर्च में माना गया कि यह वायरस सापों के जरिये इंसानों में फैला है|

CORONAVIRUS पर चीन का क्या कहना है|

दूसरी और चीन के सरकारी चिकित्सा सलहाकार, जॉन ननशान ने बिज्जू और चूहों के जरिये वायरस फैलने की आशंका जताई है, इसके बात चीन के वैज्ञानिको के लेटेस्ट  रिसर्च में पाया गया की यह वायरस चमकाधड़ो से सापों  और फिर सापों से इंसानों में फैला है, चीन की राजधानी बीजिंग में जनरल ऑफ़ मेडिकल वायरोलोजी में पब्लिश हुई वज्ञानिको की स्टडी में कहा गया की कोरोना वायरस सापों से इंसानों में पंहुचा|

पिछले दिनों वर्ल्ड हेल्थ आर्गेनाइजेशन यानि who की और से कोरोना के संबंद में सूचित किया गया था की यह वायरस जानवरों से जुड़ा है, और मिट के थोक बजार  ,साप और चमगादड़ के जरिये इंसानों में आया है, रिसर्च में पता चला की कोरोना वायरस एक पैथोजन है, ये एक तरह का इन्फेक्सन एजेंट होता है, जो बेमरियो को फ़ैलाने का काम करता है, आम भाषा में जर्म्स यानि कीटाणुओ के तोर पर भी समझ सकते है |

यह एक महीने से भी कम समय  में, इस वायरस ने 2463 लोगो को अपना शिकार बना लिया है , जिनमे से 142 लोगो की जान भी जा चुकी है , और अब न चाइना में, बल्कि यह वायरस इंडिया  u.s.a. सिंगापोर , नेपाल , वियतनम, ऑस्ट्रेलिया , थाईलैंड, जापान, फ्रांस ,और कोरिया जैसे कंट्रीज में भी फ़ैल चूका है, बैसक यह बात दिल दहला देने वाली बात है, क्युकी अगर  एक महीने में यह वायरस इतना नुकसान कर सकता है तो आने वाले दिनों में पता नही यह और क्या क्या करेगा, पर इससे भी खोफनाक बात तो यह है की इस वायरस से बचने का अभी तक कोई ट्रीटमेंट नही है ,और अब तक इस वायरस के लक्षणों को ही खोजा गया है, पर वायरस का ट्रीटमेंट वर्तमान में किसी के पास नही है |

कोरोना वायरस के लक्षण क्या है |

इस वायरस के लक्षण, मामूली बुखार ,गले में खरास ,साँस लेने में मुस्किल जैसी समस्याओ से शुरू होते है, और फिर आगे चलकर यह वायरस आपके दोनों फेफड़े को बुरी तरह डेमेज कर देते है, और यहाँ तक की इस वायरस से इन्फेक्टेड व्यक्ति को निमोनिया जैसी बीमारी भी हो जाती है, और फिर कोई न इलाज होने के कारण इस वायरस से व्यक्ति की जान चली जाती है |

कोरोना वायरस से बचने के उपाय |

यह वायरस एक इन्सान से दुसरे इन्सान तक पहुँचता है, और यह डायरेक्ट और इनडायरेक्ट तरीके से इंसानों में फैलता है |

डायरेक्ट कनेक्शन यानि जब आप अपने दोस्तों, या किसी फैमली मेम्बर से हाथ मिलते हो तब अगर आपकी फैमेली में से कोई  इस वायरस से इन्फेक्टेड है और अगर आपने उन्हें छुआ ,तो पोसिब्लितिस है की यह वायरस आपको भी हो जायेगा |

इनडायरेक्ट  यानि जब कोई व्यक्ति जो वायरस से इन्फेक्टेड है और वो अगर छिके, या खासे और उसके droplets आप तक पहुचकर आपकी नाक या आपके मुह से आपके अंदर चले जाये तब आप भी इस वायरस से इन्फेक्टेड हो सकते है|

कोरोना वायरस की वैक्सीन

अब सवाल ये है की इस वायरस से हम कैसे बचे | तो फ़िलहाल इस वायरस का कोई इलाज नही है |लेकिन  WHO यानि वर्ल्ड हेल्थ आर्गेनाइजेशन के द्वारा लोगो तक यह मेसेज पहुचाया जा रहा है की अपने हाथो को बार बार धोते रहिये ,ताकि आप तक कोई वायरस न आ सके, इसी के साथ खासते या छिकते वक्त मुह को ढक ले, और कोई भी नॉनवेज चीज को खाने से पहले उसे अच्छी तरह से पका ले, ताकि कोई हिस्सा कचा न रह जाये , और अगर किसी को गले में खरास या बीमारी महसूस हो तो  जल्द से जल्द अपना चेकअप करवाए |

इन स्टेप्स को फॉलो करके शायद हम इस भयंकर वायरस से खुद को बचा सके|

इस वायरस को लेकर आपकी क्या राय है, हमें कमेन्ट में जरुर बताये, और इस POST को ज्यादा से ज्यादा शेयर करे |

lokeshjalandharaahttp://hindicountdown.in
नई टेक्नोलॉजी का अविष्कार, इन्टरनेट, गैजेट्स, मोबाइल ऐप्स, स्मार्टफ़ोन रिव्यु और सोशल मीडिया की जानकारी सबसे पहले पाने के लिए हमारी वेबसाइट देखे!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular